List Headline Image
Updated by Bibhu Datta Rout on Aug 09, 2016
Headline for Hindi Short Stories | Read Online
 REPORT
7 items   1 followers   7 votes   48 views

Hindi Short Stories | Read Online

Hindi stories, Hindi short stories, online Hindi short stories, best stories in Hindi, Read Online Hindi short stories, Great Romance Stories in hindi, Indian hindi short stories, hindi story online, hindi romantic short stories online, hindi short stories online, hindi short stories for kids, free hindi story books, short stories in hindi, Hindi Love Story online, hindi horror story online

Source: https://storymirror.com/stories/hindi

Read Hindi Short Stories Online | Storymirror

Online collection of Hindi short stories - Hindi Love Stories, Hindi Horror Stories, Hindi Fiction stories, great suspense stories in Hindi, Best Stories in Hindi

मिसेज शर्मा का झुमका

'मिसेज शर्मा का झुमका' एक ऐसी औरत की कहानी है जो कई वर्षों से झुमका खरीदना चाहती है ........ क्या उसकी चाहत पूरी होती है ? पढ़ें ......  

गीतिका

गीतिका | A Hindi short Story Written by Atul balaghati at storymirror
hindi stories, hindi short stories, best stories in hindi, Read Online Short Story, Great Romance Stories, Great Suspense Stories, online story sharing sites in india, Online Competition For Stories, Indian Stories And Poems, Tiny Stories

बुढ़िया! ....क्या बोझ?

बीमारी के चलते शायद वह रोज़ नहीं नहा पाती थी जिससे उनके शरीर और कपड़े से दुर्गन्ध आती थी. उसके बर्तन अलग थे और दोस्त ने बताया था की दादी हमारा साथ खाना नहीं खातीं उनके लिऐ महाराज अलग से खाना बनाता है... एक दिन जब हम खेल रहे थे तभी उन्होंने हमें बड़े प्यार से बुलाया और हम दोनों को आधे-आधे पेड़े खाने को दिऐ और कहा- खाओ! ...................

एक उलझी सी पहेली

दोनों दोस्तों ने आज से पहले कभी टमाटर के पकोड़े नहीं खाये थे। पर अब तो लग रहा था कि इन टमाटरों के पकौड़ों के लिए कम से कम पूरा महीना इस होटल में रूका जा सकता है। तीसरी बार टमाटर के पकोड़े लाने के बाद वो गाँव वाला भी अपना वक्त गुजारने के लिए उनके साथ बातें करने बैठ गया।

मेरे ख़्वाबों के दूल्हे बनाम शहनाईयाँ जो बज न सकीं

मेरे ख़्वाबों के दूल्हे बनाम शहनाईयाँ जो बज न सकीं